अप्रैल समसामयिकी : भाग 2

0
24

इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं का सारांश सम्मिलित किया जा रहा है। अपनी परीक्षा की तैयारी हेतु इसका गहन अध्ययन करें।

1. बांग्‍लादेश में सरकारी नौकरियों में आरक्षण खत्‍म होगा:

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने 11 अप्रैल 2018 को कहा कि उन्होंने सरकारी नौकरी में कोटा सिस्टम को खत्म करने का फैसला लिया है। ज्ञात रहे कि पिछले कुछ दिनों से बांग्लादेश में हजारों छात्र विशेष समूहों के लिए सरकारी नौकरी में विवादास्पद कोटा नीति का विरोध कर रहे हैं। जिसके बाद हसीना ने सरकारी नौकरियों के लिए पूरी तरह से कोटा प्रणाली को खत्म करने का सुझाव दिया है। हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार विकलांगों, पिछड़ी जातियों व अल्पसंख्यकों के लिए नौकरियों के लिए विशेष व्यवस्था कर सकती है।

2. 11वां विश्व हिंदी सम्मेलन मॉरीशस में आयोजित किया जायेगा:

मॉरीशस की राजधानी पोर्ट लुई में विश्व हिंदी सम्मेलन इस 18-20 अगस्त 2018 को आयोजित किया जाना है। इस बार के विश्व हिंदी सम्मेलन की थीम वैश्विक हिंदी और भारतीय संस्कृति” है।

विश्व हिंदी सम्मेलन के आयोजन की शुरुआत 1975 में नागपुर से हुई है। अब इस आयोजन की परंपरा ने वैश्विक स्वरुप और गति प्राप्त कर ली है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और मॉरीशस की शिक्षा, मानव संसाधन एवं वैज्ञानिक अनुसंधान मंत्री लीला देवी दुकन लछुमन ने संयुक्त रुप से 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन की वेबसाइट और लोगो (प्रतीक चिन्ह) का लॉन्च किया।

3. चीन ने याओगान-31 सुदूर संवेदन उपग्रह के पहले समूह को अंतरिक्ष में प्र‍क्षेपित किया:

चीन ने याओगान-31 सुदूर संवेदी उपग्रह (रिमोट सेंसिंग सैटेलाइट) के पहले समूह को 10 अप्रैल 2018 को अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किया। यह लॉन्च जिउकुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से हुआ। लॉन्ग मार्च-4सी रॉकेट अपने साथ इन उपग्रहों को लेकर गया है जो लॉन्ग मार्च रॉकेट श्रृंखला का 271वां मिशन है। मिशन के दौरान कक्षा में माइक्रो नैनो तकनीक वाला अन्वेषक उपग्रह भी भेजा है। उपग्रहों का उपयोग विद्युत चुम्बकीय पर्यावरण सर्वेक्षणों और अन्य संबंधित तकनीकी परीक्षणों के लिए किया जाएगा। चीन ने याओगान श्रृंखला का उपग्रह याओगान-1 साल 2006 में भेजा था।

4. डॉ. बलराम भार्गव आईसीएमआर के महानिदेशक बनाए गए:

केंद्र सरकार ने एम्स के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ व कार्डियोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. बलराम भार्गव को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) का महानिदेशक नियुक्त किया है। डॉ. बलराम भार्गव की पहचान नवोन्मेषी (इनोवेटिव) डॉक्टर के रूप में रही है। नियुक्ति का आदेश जारी होने के बाद उन्होंने कहा कि शोध के माध्यम से बीमारियों की रोकथाम उनकी प्रमुखता होगी।