अग्नि-2 मिसाइल का पहली बार सफल रात्रि परीक्षण किया गया

0
19

भारत ने 16 नवंबर 2019 को सतह से सतह पर मार करने वाली अग्नि-2 प्रक्षेपास्‍त्र का पहली बार रात में सफल परीक्षण किया है। ओडिसा के समुद्र में डॉ. अब्‍दुल कलाम द्वीप के समन्वित परीक्षण रेंज (आईटीआर) के लॉन्च कॉम्पलेक्स-4 से परीक्षण किया।

  • रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन-डी.आर.डी.ओ. से विकसित यह बैलिस्टिक मिसाइल 1000 किलोग्राम तक के परमाणु हथियार 2000 किलोमीटर से भी अधिक दूरी तक ले जाने में सक्षम है।
  • मध्‍यम दूरी की इंटरमीडिएट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल (आईआरबीएम) अग्नि-2 सशस्‍त्र सेना में पहले ही शामिल की जा चुकी है।
  • 20 मीटर लंबी तथा दो चरणीय इस बैलिस्टिक मिसाइल का वजन 17 टन है।
  • यह मिसाइल एडवांस्ड उच्च सटीक नैविगेशन क्षमता से युक्त है।
  • प्रोटोटाइप अग्नि-2 मिसाइल का प्रथम परीक्षण 11 अप्रैल, 1999 को किया गया था। स्ट्रैटेजिक कमांड फोर्स द्वारा अग्नि-2 मिसाइल की परमाणु सक्षमता का परीक्षण 17 मई, 2010 किया गया।