अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस: 01 मई

0
55

पूरे विश्व में हर साल 1 मई को अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस मनाया जाता है। इसे ‘मई दिवस’ के नाम से भी जाना जाता है। यह अंतरराष्ट्रीय श्रम संघों को बढ़ावा देने और प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है। वर्ष 2018 के लिए अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस की थीम “सामाजिक और आर्थिक उन्नति के लिए श्रमिकों को एकजुट करना (Uniting Workers for Social and Economic Advancement)” है।

 अंतरराष्ट्रीय मज़दूर दिवस विश्व स्तर का एक बड़ा उत्सव है और इसे 4 मई 1886 (हेयमार्केट हत्याकाण्ड) के दिन को याद करने के लिये मनाया जाता है। ये उस वर्ष का एक बड़ा कार्यक्रम था जब मज़दूर अपने आठ घंटे के कार्य-दिवस के लिये आम हड़ताल पर थे। हेयमार्केट हत्याकाण्ड के दौरान बहुत सारे लोगों ने अपने जीवन का बलिदान किया था जो मजदूरों की हड़ताल के दौरान श़िकागो में हुआ था। कार्यकारी समूह के लोगों की समाजिक और आर्थिक उपलब्धियों को बढ़ावा देने के लिये साथ ही हेयमार्केट नरसंहार की घटना को याद करने के लिये मई दिवस मनाया जाता है।

ये उत्सव पूरे विश्व भर में एक ऐतिहासिक महत्व रखता है और पूरे विश्व भर में लेबर यूनियन के द्वारा मनाया जाता है। हिंसा को रोकने के लिये सुरक्षा प्रबंधन के तहत कार्यकारी समूह के द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रदर्शन, भाषण, विद्रोह जुलूस, रैली और परेड आयोजित किये जाते हैं।

इतिहास: 

मजदूर/श्रम दिवस की शुरुआत अमेरिका में वर्ष 1886 को हुई थी। तब अमेरिका के मजदूर संघों ने मिलकर निश्‍चय किया कि वे 8 घंटे से ज्‍यादा काम नहीं करेंगे। भारत में लेबर किसान पार्टी ऑफ हिन्‍दुस्‍तान ने 1 मई 1923 को मद्रास में मजदूर दिवस की शुरुआत की थी। हालांकि उस समय इसे मद्रास दिवस के रूप में मनाया जाता था।