अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस : 12 अगस्त

0
16

अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस पूरे विश्व में प्रत्येक वर्ष 12 अगस्त को मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस 2018 का विषय “युवाओं के लिए सुरक्षित स्थान” (Safe Spaces for Youth) हैं। अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस का उद्देश्य गरीबी उन्मूलन एवं सतत विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए युवा लोगों की अग्रणी भूमिका सुनिश्चित करना है। भारत में प्रतिवर्ष 12 जनवरी को ‘राष्ट्रीय युवा दिवस‘ मनाया जाता है।

आज विश्वभर में अधिकतर युवा बिलासिता और सुख-सुविधा को देखते हुए अपनी देश की जमीन को छोड़कर दूसरी जगह जा रहे हैं, जिससे राष्ट्र निर्माण में दिक्कतें आ रही हैं। युवा किसी भी राष्ट्र की शक्ति होते हैं और विशेषकर भारत जैसे महान राष्ट्र की ऊर्जा तो युवाओं में ही निहित है। भारत को युवाओं का देश कहा जाता है। अपने देश में 35 वर्ष की आयु तक के 65 करोड़ युवा हैं। अर्थात् हमारे देश में अथाह श्रमशक्ति उपलब्ध है। ऐसे में अगर युवाओं का भारी संख्या में प्रवासन होता है तो इससे न केवल उस राष्ट्र की अक्षमता प्रदर्शित होती है, जो अपने नौजवानों को प्रयाप्त साधन नहीं दे सकता बल्कि इससे देश की विकास का सशक्त आधार भी समाप्त हो जाता है।

इसलिए सामाजिक आर्थिक विकास के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए विकास और व्यक्तिगत पसंद की अहम भूमिका को नाकारा नहीं जा सकता। अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस मनाने का मतलब है कि सरकार युवाओं के मुद्दों और उनकी बातों पर ध्यान आकर्षित करे।

पृष्ठभूमि:

संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 17 दिसम्बर 1999 को युवा विश्व सम्मलेन के दौरान की गयी सिफारिशों को मानते हुए 54/120 प्रस्ताव पारित किया गया तथा प्रत्येक वर्ष 12 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गई थी। पहली बार सन 2000 में अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस का आयोजन आरम्भ किया गया था। यह भी ध्यान देने योग्य है कि संयुक्त राष्ट्र संघ के निर्णयानुसार वर्ष 1985 में अंतरराष्ट्रीय युवा वर्ष घोषित किया गया था।